Download Our App

खरगोन मध्यप्रदेश के एक सरकारी शिक्षक पर तीन कम्पनी बनाने के नाम पर अरबों रूपयो की जमीनों का आरोप , भारत सरकार का पी एम ओ भी 18 माह में कुछ नही कर पाया !

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']

किसी शादी में जाओ और प्रकाश स्मृति कम्पनी की चर्चा ना निकले यह संभव ही नहीं है !
कल रात कृष्णा रिसोर्ट में नगर के प्रख्यात सोयस होटल के मालिक घोड़े परिवार में वैवाहिक आयोजन में मैं गया था !
कल वास्तव में प्रकाश स्मृति कम्पनी की बेहद महत्वपूर्ण जानकारी मिली !
ईमानदार पत्रकार ध्यान दे और मेरी इस लिखी बात को वर्तमान एस पी श्री धर्मराज मीणा तक बार बार पहुंचाए मैं तो उन्हे व्हाट्सएप करूंगा ही , उनसे मिलूंगा भी किंतु हम सब सामूहिक रूप से शिकायत करेंगे तो उसका प्रशासन पर दबाव बनेगा !
कल जिन खरगोन के सज्जन से मुझे जो बात मालूम हुई उसमे सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की प्रकाश स्मृति कम्पनी के डायरेक्टर की अनुकम्पा नियुक्ति गलत तरीके से हुई है !
हालांकि यह बात मुझे रवि शंकर की स्कूल में शिक्षक ने बताई थी की अनुकम्पा नियुक्ति के जो प्रशासन के नियम है उसके विरुद्ध रविशंकर महाजन की नियुक्ति हुई और इस व्यक्ति ने सरकारी पद पर रहते हुए पश्चिम निमाड़ जिले के गरीब , किसान , मजदूर और छोटे व्यापारियों से धन लिया , जमीनें ली और उन्हें मूर्ख बनाकर अभी भी प्रकाश स्मृति कम्पनी के गरीब लोगो के पैसे नही दे रहा है , इस रविशंकर महाजन सरकारी शिक्षक की अनेकों शिकायते कलेक्टर , एस पी , टी आई , एस डी ओ पी , विधायक , सांसद , सी एम हेल्प लाइन , पी एम ओ भारत सरकार , इंदौर हाई कोर्ट में प्राइवेट याचिका ….
इतना सब होने के बाद
मध्यप्रदेश की भारतीय जनता पार्टी की सरकार
और
केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार
एक सरकारी शिक्षक रविशंकर महाजन पिता प्रकाशचंद्र महाजन माता गंगा बाई का कुछ नही बिगाड़ सकी ….
पश्चिम निमाड़ जिले के गरीब , किसान , मजदूर और छोटे व्यापारी आश्चर्य में है की सितंबर 2022 से अब अप्रैल 2024 लग गया ….
19 माह में भारत के राष्ट्रीय चैनल एन डी टी वी ने सरकार को आगाह किया , यू ट्यूब के चैनलो ने जो इंडिया लेवल के थे , उन्होंने सरकार को बताया , खरगोन और इंदौर के अखबारों ने सरकार को सब बताया , खरगोन के लोकल समाचार चैनल ने खरगोन प्रशासन को सब बताया किंतु बंधुओ एक सरकारी शिक्षक ने सिद्ध कर दिया की उसके पास अरबों रूपयो की जो ताकत है उसके कारण ये मीडिया उसका कुछ नही बिगाड़ सकता !
बंधुओ
कल की शादी में रिपोर्ट मिली की कार्यवाही न करने के लिए पार्टी को बड़ा डोनेशन मिला है !
भगवान राम को मानने वाली भारतीय जनता पार्टी की डबल इंजिन की सरकार तीन कम्पनी के अरबों के घोटाले में चुप क्यों है आखिर किस कारण खरगोन के एक सरकारी शिक्षक जिसे मध्यप्रदेश सरकार एक लाख रुपया दे रही है
जिसने अपने जीवन में अनुकम्पा नियुक्ति के बाद एक ही स्कूल में तीस साल निकाल दिए और सरकार से पैसा लेकर तीन कम्पनी बनाकर निमाड़ के गरीब , किसान , मजदूर और छोटे व्यापारी को मूर्ख बनाता रहा और सरकार से एक लाख रुपया तनख़ा भी लेता रहा और आज इस सरकारी शिक्षक की इतनी 18 माह में शिकायत हो चुकी है , मीडिया ने सारी बाते सरकार और जनता के समक्ष रख दी फिर भी खरगोन की हायर सेकेंड्री में पदस्थ इस सरकारी शिक्षक रविशंकर महाजन के विरुद्ध प्रशासन हिम्मत क्यों नही कर रहा ?
क्या प्रशासन पर सरकारों का दबाव है ?
बंधुओ !
गरीब व्यक्ति की यदि इतनी शिकायते होती तो प्रशासन उस पर कितनी स्पीड से कार्यवाही करता !
अरे मेने एक व्हाट्स समूह पर कुछ कमेंट्स कर दिया था तो मेरे संतोष स्टूडियो पर पुलिस की गाड़ी आई और एक जवान मेरे काउंटर पर आया और बोला आपको टी आई साब बुला रहे है !
बात कांग्रेस के 14 माह की शासन की है , कांग्रेस के लोग ध्यान दे , कांग्रेस की यह नीति भी उन्हें बदलनी होगी इससे उनका वोट शेयर कम होता जा रहा है यह बहुत गलत तरीका है की अपने एस पी और कलेक्टर के माध्यम से विरोधी पार्टी के लोगो को पुलिस से परेशान किया जाय !
ललितसिंह
टी आई थे उस समय !
संतोष गुप्ता को टी आई के समक्ष पेश किया गया
टी आई का प्रश्न पढ़िए
*व्हाट्सअप चलाते हो ?*
मेरा जवाब
*जी सर*
टी आई बोले
*व्हाट्सअप तो बच्चे चलाते है*
मेरा जवाब
*नही सर बड़े भी चलाते है*
टी आई
*तुम्हे मालूम है तुमने एक समूह पर क्या लिखा है ?*
मेरा जवाब
*नही*
*और सर यदि गलत हो तो आप अपनी कार्यवाही के लिए स्वतंत्र है*
बस , मेरा इतना कहना था की मुझे टी आई ने रात बारह बजे तक थाने में बैठा रखा , अपन भी बहुत पक्के है साब , मेरा सिद्धांत है में किसी पार्टी वाले को मोबाइल नही लगाता , किसी बड़े व्यक्ति को खबर नही करता में तो कहता हू आप कार्यवाही कीजिए !
बंधुओ ,अभी
मेरे फोटोग्राफी शिष्य *अरुण डंडीर*
का मोबाइल आ गया
*अरे भैया क्या हो गया क्यों बैठाया थाने में ?*
मेने उसे समझाया मामला पांच वर्ष पुराना है कांग्रेस के शासन काल का
हमारे भारतीय जनता पार्टी के विधायक श्री बालकृष्ण जी पाटीदार जी थाने की राजनीति नही करते इसीलिए तो इस आयु में भी जीत कर बता दिया !
बंधुओ !
वर्षो पूर्व एक सरकारी अस्पताल के मेस सर्वेंट के विरुद्ध भी मेने लंबी लड़ाई लड़ी थी उस समय भी कांग्रेस की सरकार थी
एस पी आर के विज
और
कलेक्टर
भुपाल सिंह थे
टी आई अजीत पाटिल थे
दीपक अग्रवाल
और
दीपक डंडीर
मुझे बार बार थाने में दिखाई देते किंतु उन दिनों मैं पार्टी की राजनीति से वाकिफ नहीं था
बंधुओ
आप विश्वास नही करोगे , समाज और नगर की भलाई के लिए पांच लाख मेरे स्वयं के खर्च हुए
मुझे शेर की खाल में पुलिस ने फसाया
मुझे विदेशी कैमरे के मामले में पुलिस ने फसाने की कोशिश की
कांग्रेस के शासन काल में पुलिस प्रशासन की यह स्थिति थी साहेब की एस पी को मेने शिकायत दे दी , एफ आई आर हो गई उसके बाद टी आई अजीत पाटिल मुझे कह रहा है आप मुझे एक शिकायत और लिख दो जिसमे महिलाओ की संख्या 163 नही थोड़ी कम लिख देना !
भारत में आम नागरिक इसीलिए पुलिस में कोर्ट में नही जाता साब क्युकी उसे इतना अधिक प्रताड़ित किया जाता है की अन्य दूसरा व्यक्ति गलत लोगो के विरुद्ध कोई शिकायत ही नही करता !
भारतीय जनता पार्टी से आम नागरिकों को काफी उम्मीदें थी
किंतु प्रकाश स्मृति कम्पनी , तंजीम ए जरखेज कम्पनी और प्रोफेसर पी सी फाउंडेशन कम्पनी के मामले में जो अरबों की जमीनों का मामला है , सरकार की भूमी पर भी कम्पनी का कब्जा है यह बात मुझे कल कृष्णा रिसोर्ट में घोड़े परिवार की शादी में एक सज्जन ने कही !
ईश्वर पर बहुत भरोसा है साब !
देखना है की रविशंकर महाजन सरकारी शिक्षक पर राम को मानने वाली पार्टी कार्यवाही करती है या नही ?
प्रतिदिन ईश्वर का नाम लेता हू और भगवान से यही प्रार्थना करता हू हे मां जगतजननी अन्याय और अत्याचार से लड़ने के लिए साहस प्रदान करो !🙏

Leave a Comment