Download Our App

6 नवंबर से 20 फरवरी …कुल 104 दिन में अब प्रकाश स्मृति की फाइल ग्वालियर रजिस्ट्रार के पाले में
खरगोन – 29 सितंबर 2022 को खरगोन नगर की 26 वर्ष पुरानी दो कम्पनी के बारे में सोशल मीडिया के माध्यम पूरे शहर , आस पास के ग्रामीण और भी अन्य राज्यो के कम्पनी के शेयर धारकों को कम्पनी के बारे में , उसके घोटाले के बारे में सब कुछ पता चल गया किंतु प्रशासन और सरकार को एक हायर सेकेंड्री स्कूल क्रमांक दो के सरकारी कर्मचारी रवि शंकर महाजन पर कड़क कार्यवाही के लिए लगता है कुछ भारी दबाव लग रहा है , खरगोन और आस पास की भोली भाली जनता को भारतीय जनता पार्टी की डबल इंजिन की सरकार से काफी उम्मीदें थी , बुलडोजर सरकार इन भूमाफिया के साथ है या विरोध में ? मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अरबों के खेल में विशेष ध्यान देना चाहिए क्युकी सारे गरीब और मध्यम वर्ग रवि शंकर महाजन पर भरोसा कर लूट गए है , प्रशासन यदि ऐसे कम्पनी बना कर मूर्ख बनाने वालो पर ठोस कार्यवाही नही करेगा तो , रवि शंकर महाजन जेसे दूसरे अन्य लोग हमारी आगामी पीढ़ी को और मूर्ख बनायेगे , कलेक्टर श्री शिवराज जी वर्मा जी , मैं आपको बिलकुल ईमानदारी से लिख रहा हु , खरगोन और खरगोन जिले के मध्यम वर्ग के परिवार बहुत कर्ज में है , चुकी वे सरकारी नोकरी में नही टी थे तो एक मुश्त पैसा और पेंशन की लालच में उन्होंने खरगोन शहर के रवि शंकर महाजन पर विश्वास किया , अरबों में खेलने वाले रवि शंकर महाजन ने खरगोन और जिले की ग्रामीण जनता को आश्वासन देना चाहिए की उनके दस वर्ष के शेयर होल्डर का दस लाख 60 हजार नही डूबेगा ! प्रकाश स्मृति कम्पनी की अध्यक्ष रवि शंकर महाजन की मां गंगा बाई महाजन है और पी सी फाउंडेशन कम्पनी के अध्यक्ष खरगोन शहर के भारतीय जनता पार्टी के प्रख्यात नेता रणजीत सिंह डंडीर है ! सबसे बड़ी बात इन दो कम्पनी के अरबों रूपयो के घोटाले के कारण भारतीय जनता पार्टी की साख पर दाग लग रहा है की गलत कार्य करने वालो के घर बुलडोजर चलाने वाली भारतीय जनता पार्टी की डबल इंजिन की सरकार इन दो कम्पनी के मुख्य किरदार खरगोन की हायर सेकेंड्री स्कूल क्रमांक दो में गणित के यू डी टी रवि शंकर महाजन पर कार्यवाही के लिए इतना लम्बा समय क्यों लगा रही है ? प्रधानमंत्री कार्यालय और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय में शिकायत 6 नवंबर से दर्ज होने के बावजूद प्रकाश स्मृति कम्पनी और पी सी फाउंडेशन की कंपनी के सारे शेयर धारकों को इंतजार है उनके पैसे मिलने का और कम्पनी का आगामी भविष्य क्या होगा ? क्या दोनो कंपनिया डूब जायेगी ? निवेशकों का पैसा डूब जायेगा ? दोनो कम्पनियों के संचालक मंडल खरगोन शहर के है , इनमे स्वर्गीय प्रकाश महाजन के सुपुत्र रवि शंकर महाजन के अतिरिक्त गंगा बाई महाजन , सुभाष महाजन , वृंदावन बजाज , कैलाश चंद्र महाजन , राजेश गुप्ता , गिरिराज महाजन , राजेंद्र गुप्ता , राजेंद्र महाजन , प्रवीण सराफ और बड़वानी के पूर्व लायंस क्लब अध्यक्ष ओम प्रकाश गुप्ता भी है ! दोनो कंपनियों ने खरगोन शहर , खरगोन जिले के शेयर होल्डर , पूरे भारत के कई राज्यों के निवेशकों के लिए अभी तक कोई भी स्टेटमेंट नही दिया है , शेयर होल्डर और निवेशक की चिंता इसलिए बढ़ रही है की भारत सरकार के प्रधानमंत्री कार्यालय तक दोनो कंपनियों की शिकायत 6 नवंबर से सी एम हेल्प लाइन में शिकायत के बावजूद अभी तक दोनो कम्पनियों के संचालक मंडल पर सरकार और प्रशासन द्वारा ऐसी कोई ठोस कार्यवाही का नही होना , सी एम हेल्प लाइन की शिकायत का इधर से उधर , उधर से इधर करना , यह इशारा करता है की अरबों के घोटाले में दोनो कम्पनियों का सरकार और प्रशासन दबाव है , प्रकाश स्मृति के पिछले 26 वर्षो का इतिहास देखा जाय तो कम्पनी का झुकाव भारतीय जनता पार्टी की विचार धारा से अधिक मेल खाता है , ऐसे में अनेक शेयर होल्डर , अनेक निवेशकों को चिंता है क्या उनका पैसा डूब जायेगा ?
खरगोन से स्वतंत्र पत्रकार संतोष गुप्ता की रिपोर्ट !

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']

Leave a Comment