Download Our App

खरगोन में तीन कंपनियों में अरबों का खेल

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']

प्रिय खरगोन वासियों !
अपने खरगोन शहर के रवि शंकर महाजन ने आज से 27 साल पहले ग्वालियर में एक कम्पनी रजिस्टर्ड की जिसका नाम प्रकाश स्मृति रखा गया !
प्रकाश इसलिए क्युकी रवि शंकर महाजन के पिता खरगोन कालेज में प्रोफेसर थे , वे अचानक चल बसे तो उनकी स्मृति में रवि शंकर ने लगभग 25 हजार से अधिक पैंपलेट बनाए और खरगोन शहर के ही अभिकर्ता बनाए उन अभिक्रताओ ने नगर में और गांव गांव में , पूरे भारत में 22 हजार से भी अधिक लोगो से 1520 रुपए प्रति व्यक्ति लिए , इस पैसे को कम्पनी ने बैंक में रखा और शेयर होल्डर को ही ब्याज पर दो शेयर होल्डर की गवाही पर लोन देना शुरू किया , कम्पनी ने शेयर होल्डर की चेक बुक शेयर होल्डर की साइन करवा कर अपने पास रखी , जिन शेयर होल्डर ने लोन नही दिया उसके कोरे चेक पर साइन के चेक पर ऊपर डेट कम्पनी ने लिखी , कम्पनी का नाम लिखा और बयाज सहित राशि एक मुश्त लिखकर उसे उस शेयर होल्डर के खाते में लगा दिया , चेक बाउंस होकर जब आया तो प्रकाश स्मृति कम्पनी ने न्यायालय को भी गुमराह किया की यह चेक हमे शेयर होल्डर ने दिया और बाउंस हो गया इसलिए धारा 138 में यह दंडनीय अपराध है इसलिए मेरी प्रकाश स्मृति कम्पनी के इस कर्ज से परेशान शेयर होल्डर को आप 6 माह की सजा दे और मेरी कम्पनी का पैसा भी दिलवाए ! मित्रो , प्रकाश स्मृति कम्पनी ने ऐसे अनेक शेयर होल्डर को जेल की सजा भी करवाई है , किंतु आज रवि शंकर जो एक नही तीन कम्पनी का मास्टर माइंड है , प्रकाश स्मृति , तंजीम ए जरखेज और प्रोफेसर पी सी फाउंडेशन कम्पनी , मास्टर माइंड रवि शंकर ने एक करोड़ रुपया भारतीय जनता पार्टी के रणजीत डंडीर जो पी सी फाउंडेशन कम्पनी के अध्यक्ष है की कम्पनी में डाले है , इन्ही एक करोड़ रूपयो के कारण कम्पनी के विक्रम चौहान और रवि शंकर के बीच इतना विवाद हुआ की कम्पनी में मारा कुटी हो गई ! आयकर विभाग खरगोन प्रकाश स्मृति की इस कंपनी को नोटिस दे , जांच करे की एक करोड़ रुपया क्यों पी सी फाउंडेशन को दिया और प्रकाश स्मृति कम्पनी आयकर में छूट लेकर कही भारत सरकार को मूर्ख तो नहीं बना रही ! तीनो कम्पनी के मास्टर माइंड रवि शंकर महाजन के विरुद्ध अभी तक प्रशासन कुछ नही कर पाया जबकि यह मामला खरगोन शहर के हजारों गरीब , मजदूर , किसान और छोटे व्यापारी का है ! भारत सरकार के पी एम ओ में 6 नवंबर 22 को खरगोन शहर के 60 वर्षीय कट्टर बी जे पी , कट्टर संघी संतोष गुप्ता ने ईमानदारी से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को सब बाते लिखकर भेजी शिकायत पी एम ओ में दर्ज हो गई , उसी शिकायत को पी एम ओ ने सी एम हेल्प लाइन में मर्ज किया , आज 19 जून तक कलेक्टर , एस पी द्वारा आम जनता को इन तीन कम्पनी के विषय में कोई भी प्रेस नोट नही दिया गया है , इससे जनता में गलत संदेश जा रहा है , जनता समझ रही है कम्पनी में रणजीत सिंह डंडीर है , कम्पनी के और भी संचालक भारतीय जनता पार्टी की विचार धारा के है , इसलिए सरकार और प्रशासन गरीब के मुद्दे को दबा रहे है और कम्पनी के संचालकों ने सेटिंग कर ली होगी , विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव में खरगोन की इन तीन कम्पनी में जो अरबों रूपयो की भूमी है ,प्रापर्टी है , प्रापर्टी खरीद बिक्री में जो नंबर दो का पेमेंट की रिपोर्ट है की कम्पनी ने इंदौर में जो प्रापर्टी बेची उसके 52 लाख नगद किधर है , मामला बहुत बड़ा है और इसे दबाया जा रहा है ! खरगोन संतोष न्यूज से संतोष गुप्ता की रिपोर्ट ! मोबाइल – 98262 – 29657

Leave a Comment