Download Our App

रविशंकर महाजन के बाद गोपाल महाजन

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']
  1. खरगों – सोमीसोमीन के बाद अब गोपाल मॅजाम !
    ****************************************
    खरगोन – 29 सितंबर 2022 को संतोष गुप्ता द डेमोक्रेटिक जर्नलिस्ट के फेसबुक लाइव से खरगोन जिले के लोगों को बादा पदा, खरगोन के नेताओ, राक्षस, समाजसेवियों को असफलता मिली, खरगोन की हितैषी स्कूल की विरासत दो गणित के विद्यार्थियों वाला एक सरकारी शिक्षक ने कविता से कहा तीन कंपनियों ने खरगोन जिले और आस-पास के जिलों में लगभग 22 हजार लोगों से करोड़ रुपये लेकर, उन्हें ब्याज पर शेयर धारकों को दिया, लेट फीस पर 250 रुपये का दंड लिया, बारह करोड़ चेक पर शेयर धारक की मुद्रा करवाकर, लोन नहीं देने पर, कोरे चेक पर कंपनी की तारीख की लिखावट, कंपनी का नाम की लिखावट, लोन राशि की ब्याज और पेनल्टी सहित लिखी गई और शेयर धारक के चेक में चेक लगाती, निश्चित शेयर धारक जो कर्ज में है उसे तो अंकित ही नहीं होता की मेरे चेक में चेक करें अया यकी उसने तो कोरे चेक पर साइन करके कंपनी को दे दिया था, चेक बाउंस होना ही था,कंपनी के माध्यम से कोर्ट को भी मूर्खतापूर्ण सिद्धांतों का पालन करना पड़ता है और प्रकाश मेमोरी कंपनी के शेयर धारक ने दिया, बाउंस करवा दिया इसलिए शेयर धारक ने 138 धारा में अपराध किया है, न्यायालय 138 धारा के नियमों का पालन करता है और प्रकाश स्मृति कंपनी के शेयर धारक जिसने कंपनी दी उसे छः माह की जेल हो गयी…
    यूनिवर्सल का तीसरा भाग से पेट नहीं भरा, वह प्रकाश मेमोरी कंपनी का नाम छह प्रापर्टी सम, एक प्रापर्टी मगरूल रोड की उसे अपनी बेटी के सास के पिता ने उस खेत से दे दिया जो लगभग दस लाख रुपये साल का था, जो सालो से हो रहा है वह लाइट मेमोरी कंपनी में जमा नहीं हो रही है, रवि शंकर महाजन की कंपनी में जमा नहीं हो रही है। जब तक कंपनी में जमा नहीं किया गया, रवि शंकर महाजन ने यही नहीं रुका अपनी भूखा भूखा जा रही थी, पता नहीं स्कूल में बच्चों को गणित पढ़ा भी था या नहीं, रवि शंकर महाजन का पिछले 27 साल में कोई पोस्टर भी नहीं कर पाया, यह 20 साल का रिपोर्ट कार्ड का हिस्सा है सरकार का !
    रवि शंकर महाजन ने एक कंपनी मुस्लिम नाम की बनाई है, तंजीम ए जरखेज, जिस खरगोन शहर में हिंदू और मुसलमानों के बीच चार बड़े दंगे हुए थे, उस शहर का एक मुस्लिम नाम जरखेज है, एक मुस्लिम जाकिर शेख ने कंपनी का नाम बनाया है, दो करोड़ की सी.सी. लिमिट बैंक जो गौर पेट्रोल पंप के सामने है, वह का अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी का खजाना डंडीर है, एसोसिएट की कंपनी चलती है, गरीब किसानों की जमीनें मिलती हैं, जाकिर एसोसिएट यहां है बूचड़ खाना, स्लेटर हाउस सहयोग, मुस्लिम कली बोलेगा , जिस शहर में हिंदू और मुसलमानों के चार बड़े दंगे हुए थे, केवल गरीब किसानों और आम लोगों ने ही अपनी जमीन रवि शंकर महाजन की कंपनी को बेच दी थी, 500 इंच की जमीन पर आज की जमीन पर करोड़ रुपये की राख की है, आधार मुस्लिम नाम, मुस्लिम मेज़रे जाकिर शेख नहीं है, भारत सरकार के कारपोरेट मंत्रालय ने अयोनिवा जापानी, बांडीरिया सिंह डंडीर के आवेदन पर मुस्लिम नाम जो कंपनी का था अब प्रोफेसर पी सी फाउंडेशन रखा दिया,500 रुपये में अपने पितरों के नाम के पेड़ की करोड़ो रूपयो की रसीद बनी, ताज प्रोजेक्ट के बाद अब गोकुल प्रोजेक्ट बना, जमीनों की बिक्री, मकानों की बिक्री….
    खरगोन के एक सरकारी शिक्षक ने अरबों का खेल भारतीय जनता पार्टी के कट्टर हिंदूवादी नेता बांड्ज़र सिंह के साथ खेला… ये
    मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार का 20 साल की सरकार का ओरिजनल रिपोर्ट कार्ड है….
    पी एम ओ, सी एम हेल्प लाइन, कलेक्टर, एसपी सभी को सेकडो याचिका में कहा गया है कि मुस्लिम
    समुदाय का कोई बाल भी बांका नहीं कर पाया, ये मध्य प्रदेश की राजग सरकार की उपलब्धि है जहां अखबार में गरीबों की चोरी की खबरे छपती है अमीर खंजर जो अपराध करे उसका बड़ा अखबार, बड़े टीवी चैनल पर खबरें भी नहीं, इसलिए जनता का इशारा है ये बड़े अखबार, बड़े टीवी चैनल वाले अमीर लोगों की खबरें नहीं, बड़े टीवी चैनल वाले अमीर लोगों और सरकार के इन खबरों को न दिखाने के लिए कुछ लाभ मिलेगा, ऐसा अब आम आदमी है विचारक लगा है…
    ईडब्ल्यूओ भोपाल ने यूनिवर्स की तीन कंपनियों पर केवल शिकायत दर्ज की, अभियोजन में दो लोगों की गवाही, बस…
    बुलडोजर मुस्लिम वाले मुख्यमंत्री शिवराज ऐसे मामले में बुलडोजर क्यों नहीं पसंद …..बातये मध्य प्रदेश का मुस्लिम और पढ़ा हुआ वोटर अब समझ में आता है …
    खैर एक अरबों का घोटाला रवि शंकर महाजन का मामला आ गया, मोदी जी ने बताया कि मेरे भारत के नागरिक 250 रु. में शामिल हो रहे हैं। था, रेलवे बोर्ड को खबर लगी, 20 अगस्त को रेलवे की टीम आई, रातभर जांच की ओर 21 तारीख को गोपाल महाजन के सभी कंप्यूटर और उनके सहयोगियों को महू ले जाया गया, गोपाल महाजन जेसी एसकेएन रवि शंकर महाजन पर भी ध्यान देना चाहिए, अब आप अंदाज लगाया गया है साहब मध्य प्रदेश के 20 साल के शिवराज सरकार में जब आम आदमी से 250 के 2500 रुपये निकले तो उस चित्ररे का घर केसा चला गया, मजबूरी में चिपकारा आदमी सबसे ज्यादा पैसा देता है सब, आपने कल्पना की होगी कि गोपाल बाजार के करीब कितना पैसा होगा, अरबों का गेम है साब, 250 के 2500 में कौन सा ट्रेड होता है साब?
    मध्य प्रदेश की 20 साल की सरकार में अपराधी पर ठोस कार्रवाई, उसे सजा नहीं दी गई, मध्य प्रदेश में अपराधी डरता ही नहीं है!
    आपके नेता का टिकट ऐसे लोग मांग रहे हैं जिन्होंने एक बैंक बनाया, एफ डी ली, यूएन एफ डी को पंजाब बैंक खरगोन में गिरवी रख कर डाबरिया क्षेत्र में जमीन ले ली फिर, सुत मील के नाम से बिजनेस किया, उस जमीन को बेच दिया नंबर दो का पैसा खुद इस्तेमाल किया और अब उनका अपना विधायक बन गया है!
    में संतोष गुप्ता स्वतंत्र पत्रकार खरगोन भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से प्रार्थना हो कि खरगोन के नेता का टिकट केवल और केवल बालकृष्ण पाटीदार को ही दे, अन्यथा खरगोन का भविष्य बहुत बिगड़ जाएगा, बालकृष्ण पाटीदार जीत यही तय करेंगे! संतोष न्यूज खरगोन से संतोष गुप्ता की रिपोर्ट ! मोबाइल नंबर – 98262 – 29657

Leave a Comment