Download Our App

खरगोन के गोगावा के छोटे गांव महू मांडली की शासकीय कृषि भूमी जो 20 करोड़ रुपए की आज है पटवारी कमल पटेल ने क्या खेल किया पढ़िए जरूर !

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']

*नमस्कार बंधुओ !*
*मैं हूं संतोष गुप्ता …*
*और*
*संतोष न्यूज में आपका स्वागत है*
मित्रो !
आज हम खरगोन के पास गोगावा के महू मांडली की उस 20 करोड़ रुपए की शासकीय कृषि भूमी का विश्लेषण करेंगे जिसे पटवारी कमल पटेल ने शासकीय पट्टेदार शब्द को विलोपित कर भू स्वामी करने के बाद …
खुद अपनी पत्नी किरण पटेल और नगर की एक महिला साधना महाजन के नाम शासकीय कृषि भूमी आज से पंद्रह वर्षों पूर्व खरीदी गई !
17 जुलाई 2009 को शासकीय कृषि भूमी का किसान भू स्वामी बनता है और ठीक आठ दिन बाद 24 जुलाई 2009 को उस भूमी की बिक्री भी हो जाती है …
यही नहीं केवल बीस दिन में 14 अगस्त 2009 को खरीददार किरण पटेल और साधना महाजन के नाम से शासकीय कृषि भूमी पर दोनो महिलाओ का संयुक्त नामांतरण भी हो जाता है !
गति देखिए साहेब की 9 माह बाद 31 मार्च 2010 को यही सरकारी कृषि भूमी अनिता पति राधाकृष्ण उर्फ ललित महाजन को बेच दी जाती है ! फिर इसके बाद यह जमीन टुकड़ों में 15 लोगो को बिकती है !
खरगोन के दीपक अग्रवाल भी इस जमीन को खरीदते है लाखो रुपया जमीन का देते है किंतु उन्हें जब कुछ गड़बड़ी मालूम होती है तो वे मध्यप्रदेश की सी एम हेल्प लाइन में शिकायत करते है , खरगोन कलेक्टर जांच करते है और जांच में पाया जाता है की पटवारी कमल पटेल ने ही शासकीय पट्टे दार शब्द विलोपित किया है , अपने पहले आदेश में कलेक्टर कर्मवीर शर्मा सभी रजिस्ट्री और नामांकन को निरस्त का आदेश देकर उस कृषि भूमी को उसी गरीब को देने की बात लिखते है !
पूरे खरगोन शहर और पूरे खरगोन जिले में इस 20 करोड़ की जमीन की चर्चा हो रही है और साधारण लोग अब समझ रहे है की खरगोन में पांच पांच करोड़ की शादियां केसे हो रही है क्युकी ईमानदारी से धन अर्जित कर और सरकार का टेक्स देकर इतनी कमाई संभव नहीं है ! खरगोन जिले की समस्त जनता कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को बधाईयां दे रही है की उन्होंने इतना सख्त निर्णय लिया !
अब कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने एस डी एम भास्कर गाचले को इस प्रकरण में पटवारी कमल पटेल पर एफ आई आर दर्ज का कहा है !
खरगोन शहर की जनता फिर और खूब खुश है की कलेक्टर कर्मवीर शर्मा बिल्कुल सही राह पर है और जिले की जनता को खरगोन के भू माफिया की सारी खबरे है और पहली बार खरगोन के इतिहास में किसी कलेक्टर द्वारा इतना ठोस कदम उठाया है !
अब जिले की जनता कमल पटेल की गिरफ्तारी का इंतजार कर रही है जिस प्रकार एक छोटे गरीब व्यक्ति या परिवार पर कार्यवाही होती है वैसे ही बड़े लोगो पर भी कार्यवाही होने चाहिए , भारत की जनता को भारतीय जनता पार्टी की सरकार और उनके द्वारा प्रशासन को सख्त निर्देश से चलाने का बहुत भरोसा है !
इसलिए पश्चिम निमाड़ जिले की जनता भूमाफिया पर सख्त कार्यवाही चाहती है ! संतोष न्यूज खरगोन !

Leave a Comment