Download Our App

किरण पटेल , साधना महाजन और अनीता महाजन खरगोन पर सरकारी कृषि भूमी की फर्जी तरीके से खरीद और बिक्री का आरोप !

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']

खरगोन – नमस्कार !
मैं हूं संतोष गुप्ता और संतोष न्यूज में आपका स्वागत है !
आज हम सबसे पहले खरगोन शहर के दक्षिण दिशा की और ग्राम बिस्टान के पास गोगावा ब्लाक के एक गांव की सरकारी कृषि भूमी का विश्लेषण करेंगे जिसे खरगोन की दो महिलाओं किरण पटेल और साधना महाजन ने खरीद लिया !
चुकी दो साधना महिलाएं खरगोन की है इसलिए हम खरगोन के साधना न्यूज के प्रख्यात आमिर से भी निवेदन करेंगे की वे दोनो से वन टू वन बात करे …
उनसे पूछे की आज 20 करोड़ की सरकारी जमीन की मालिक वे केसे बन गई ?
2009 यानी आज से 15 वर्ष पूर्व खरगोन शहर की किरण पटेल और साधना महाजन गोगावा की इसी कृषि भूमी की मालिक बन जाती है !
उसके बाद किरण पटेल और साधना महाजन अपना नामांकन करवाती है और फिर ये जमीन खरगोन की एक महिला अनिता महाजन खरीद लेती है !
अब सरकारी जमीन की मालिक अनिता महाजन बन जाती है और फिर अनिता इस आठ एकड़ की जमीन को लगभग पंद्रह लोगो को बिक्री करती है !
बंधुओ ! खरगोन की तीन महिला जो करोड़ो की सरकारी कृषि भूमी को खरीद रही है , बेच रही है किंतु सरकार और हमारा प्रशासन इस बात से बिलकुल अनभिज्ञ रहता है की यह सारा काम फर्जी हो रहा है !
खरगोन के दीपक अग्रवाल भी इस जमीन को खरीदते है लाखो रुपए देते है किंतु जब उन्हें मालूम पड़ता है की यह जमीन तो सरकार की है तो वे एक अच्छे और ईमानदार नागरिक की भूमिका को निभाते है और मध्यप्रदेश की सी एम हेल्प लाइन में शिकायत कर देते है !
अनीता महाजन पति राधाकृष्ण महाजन उर्फ ललित महाजन निवासी सनावद रोड के विरुद्ध सी एम हेल्प लाइन में शिकायत दर्ज हुई और कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने जांच की तो मालूम हुआ खेल बहुत लम्बा है !
खेल किरण पटेल के पति कमल पटेल का है …
किरण पटेल का पति कमल पटेल पटवारी है ..
पटवारी ने जो सरकार ने गरीब किसान को खेती करने के लिए पट्टा दिया …
उस सरकारी पट्टे में जो शासकीय पट्टेदार शब्द था उसको हटाकर उस किसान को पहले सरकारी कृषि भूमी का मालिक बना दिया उसमे भूमी स्वामी शब्द कर दिया , चुकी वह अब कृषि भूमी का मालिक बन गया पेपर पर …तो उसने अपनी कृषि भूमी खरगोन की किरण पटेल और साधना महाजन को बेच दी !
किसान ने किरण पटेल और साधना महाजन को कितने में बेची ?
जीतने की रजिस्ट्री हुई उतने में ही या नंबर दो में काला धन भी किसान को दिया गया यह एक अहम प्रश्न है !
फिर खरगोन शहर की किरण पटेल और साधना महाजन ने अनिता महाजन को यह कृषि भूमि बेची तो वास्तव में कितने में बेची ?
रजिस्ट्री कितने में हुई ?
31 मार्च 2010 को रजिस्ट्री हुई ! क्युकी 1 अप्रैल से रजिस्ट्री की गाईड लाइन बदल जाती है !
बंधुओ ! मामला बहुत बड़ा है !
15 खरीददार है इस आठ एकड़ की जमीन को खरीदने वाले …
आज का भाव ढाई करोड़ रुपए एकड़ का है !
कौन वे 15 लोग जिन्होंने अनिता महाजन को पैसा दिया …
लता मैचिंग सेंटर …डाक्टर नवनीत महाजन के पास एक दुकान हुआ करती थी …
अनीता के पति का नाम राधाकृष्ण है उर्फ ललित महाजन है …
यानी 15 लोगो का करोड़ो रुपया आज जमीन बेचने वाली अनिता महाजन के पास ही है ..
अब जिन 15 लोगो ने करोड़ो रुपया अनिता महाजन को दिया , जो नंबर दो में दिया उसे वे वापस केसे लेंगे ?
केवल एक पटवारी जिसे सरकार पैसे देती है , उसकी करस्तानी से कितने लोग परेशान होंगे !
कितने परिवारों में टेंशन हो जायेगा ?
आइए हम सब मिलकर किरण पटेल और साधना महाजन के विरुद्ध लड़ाई लड़े ! क्युकी सरकारी जमीन इन दोनो महिलाओ ने सबसे पहले ली !
कलेक्टर कर्मवीर शर्मा जी को खूब खूब बधाईयां , खरगोन वासी अब इंतजार कर रहे है की बड़े लोगो पर प्रशासन किस प्रकार कार्यवाही करता है ?
*संतोष न्यूज खरगोन*

Leave a Comment