Download Our App

सांसद जी जागो , 2018 में खरगोन जिले में 6 विधायक कांग्रेस के थे

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']

खरगोन – नगर के सात महाजन व्यक्तियों ने ग्वालियर में कम्पनी एक्ट में एक कम्पनी प्रकाश स्मृति के नाम से रजिस्ट्रेशन करवाई , इन्ही सात महाजन युवाओं ने फिर ग्वालियर में एक कम्पनी और उर्दू नाम से रजिस्ट्रेशन करवाई , उर्दू भाषा का संबंध मुसलमान जाति से है , विश्व जानता है पूरे विश्व में धर्म के नाम से देश का विभाजन कही नही हुआ , हिंदू और मुसलमान की विचारधारा न मिलने से 1947 में भारत देश दो भागो में बट गया हिंदुस्तान और पाकिस्तान ! इससे भी पूर्व का इतिहास मुगल काल का हिंदुओ में अनेक अत्याचारों से भरा पडा है , भारतीय जनता पार्टी की जब केंद्र में सरकार आई तो उर्दू के नामों को हटाकर हिंदी नाम किए गए किंतु खरगोन के सात महाजन युवकों ने एक संचालक मंडल बनाकर ग्वालियर में जो कम्पनी रजिस्टर्ड करवाई उसका उर्दू में नाम रखना संदेह पैदा करता है की आखिर उर्दू भाषा नाम की कंपनी क्यों बनाई गई , और तो और उस कम्पनी का जो मेनेजर बनाया गया वह भी मुसलमान को बनाया गया , खरगोन खस खसवाडी के जाकीर खान जिसके बेटे को मुंबई ए टी एस पूछताछ के लिए मुंबई ले गई थी तंजीम ए जरखेज कम्पनी का मेनेजर बनाया गया , कम्पनी के सातों डायरेक्टर खरगोन महाजन समाज के और कम्पनी का उर्दू नाम और मुसलमान मेनेजर ….
खरगोन कलेक्टर और एस पी दोनो के पास प्रकाश स्मृति कम्पनी , तंजीम ए जरखेज कम्पनी और प्रोफेसर पी सी फाउंडेशन कम्पनी तीनो कम्पनी की अनेक जानकारियां अनेकनगरवासियों ने सौंपी है , किंतु 29 सितंबर को रविन्द्र नगर के प्रकाश स्मृति कार्यालय के आफिस से जिसका फर्नीचर लगभग 50 लाख रुपए से अधिक का अत्याधुनिक बनाया गया था वहा पर प्रकाश स्मृति कम्पनी की अध्यक्ष गंगाबाई महाजन जो स्वर्गीय प्रकाश चंद्र महाजन की धर्मपत्नी है और उन्ही के बेटे रविशंकर महाजन जो दोनो कम्पनी के डायरेक्टर है , पी सी फाउंडेशन कम्पनी के अध्यक्ष रणजीत सिंह डंडीर भी मीटिंग में उपस्थित थे सबकी उपस्थिति और आम जनता के दर्द को लगभग डेढ़ घंटे से अधिक का सीधा लाइव संतोष गुप्ता ने उनके फेसबुक अकाउंट से किया , टी आई और एस डी ओ पी आए उन्होंने शेयर होल्डर को कहा , कम्पनी ने यदि गलत कार्य किया है तो हम इनकी एफ आई आर करेंगे , पी एम ओ भारत सरकार के कार्यालय से शिकायत सी एम हेल्प लाइन पर आई और आज 9 जुलाई तक तीनो कम्पनी के विरुद्ध कोई कार्यवाही नही होना यह सिद्ध करता है की भारतीय जनता पार्टी अपने नेता रणजीत डंडीर को बचा रही है !
यही नहीं शनिवार को मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक के राजेश महाजन ने साध्वी श्रद्धा गोपाल दीदी के पवित्र चरण 500 करोड़ की पी सी फाउंडेशन कम्पनी की हजारों एकड़ जमीन पर रखवा दिए , खरगोन खस खसवाड़ी के मुसलमान जाकिर शेख को इसी जमीन पर रवि शंकर महाजन ने मेनेजर बनाया था , सोशल मीडिया पर तीनो कम्पनी की जानकारी , शिकायतो के बाद रविशंकर महाजन डायरेक्टर , गंगा बाई अध्यक्ष , रणजीत सिंह डंडीर अब आम जनता को पूजा पाठ करके गिरधारी प्रोजेक्ट के नाम से गौशाला बनाने की जानकारी दे रहे है , शनिवार को श्रावण माह में गौशाला निर्माण के लिए रणजीत डंडीर ने गेती से भूमी खोदी जबकि श्रावण माह में भूमी नही खोदी जाती है ! कम्पनी इसके पूर्व खंडवा रोड पर एक बार गौ शाला चला चुकी है , कुल मिलाकर मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक के पूर्व मेनेजर तीनो कम्पनी के रविशंकर , गंगा बाई ओर रणजीत को अलग रूप में प्रस्तुत करने का प्रयास कर रहे है किंतु राजेश जी ने यह अवश्य ध्यान रखना चाहिए की शास्त्र अनुसार गलत कार्यों का फल भोगना पड़ेगा , कुछ पुण्य कर्म कर उसकी क्रासिंग नही होगी , पाप का फल अलग भोगना मिलेगा और पुण्य करोगे तो उसका अलग मिलेगा आप सोचे की गलत कामों का बेलेंस हो जाए यह संभव नहीं होगा ! बंधुओ , प्रकाश स्मृति कम्पनी के बारे में कम्पनी का जवाब है स्वर्गीय प्रकाशचंद्र के फोटो वाले और पैसा देने वाले पैंपलेट उसने शेयर धारकों को दिए ही नही , यानी बंधुओ अब प्रकाश स्मृति के शेयर धारकों को सिद्ध करना है की उसने पैंपलेट को पढ़ने के बाद सदस्यता ग्रहण की ! प्रकाश स्मृति कम्पनी में पुराने कर्मचारियों को भगा देना , शेयर होल्डर को पूरा पैसा नही देना , शेयर होल्डर के कोरे चेक पर लिखकर उसे कोर्ट से 6 माह की सजा करवाना , शेयर होल्डर के परिवार में मौत के पैसे देते समय उनसे दान मांगना , किस्त लेट होने पर 250 रुपए दंड लेना ! शेयर होल्डर से अच्छा व्यवहार नहीं करना , ऐसे अनेक मुद्दे है जिनका जवाब प्रकाश स्मृति कम्पनी को देना चाहिए , फिर उर्दू नाम की कंपनी और मुस्लिम मेनेजर क्यों बनाया ? फिर इस कंपनी का रजिस्ट्रेशन नंबर नही बदला किंतु कम्पनी का नाम बदल दिया तो तंजीम ए जरखेज के नाम की रजिस्ट्री पर नाम केसे बदलेगा ?
बंधुओ , मामला गरीब , मजदूर , किसान और छोटे छोटे व्यापारियों का है , सरकार और प्रशासन कब कार्यवाही करेगा इसका इंतजार खरगोन और आस पास के ग्रामीणों को है !
खरगोन संतोष न्यूज से संतोष गुप्ता !
9826229657

Leave a Comment