Download Our App

तमिलनाडु से रुद्राक्ष मध्यप्रदेश के खरगोन आए

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']

*कोयम्बतूर तमिलनाडु से खरगोन प्रभुकुंज आए रुद्राक्ष , काला धागा , यह चित्र और भभूत*
खरगोन – 140 करोड़ के देश में निशुल्क रुद्राक्ष केसे घर घर भेजे जा सकते यह काम ईशा फाउंडेशन से सभी धार्मिक ट्रस्ट को सीखनी चाहिए , मेने , मेरी बहु ट्विंकल और मेरे भतीजे अंकित ने शिवरात्रि से पूर्व ईशा फाउंडेशन की लिंक से रुद्राक्ष का आवेदन किया था और आज आषाढ़ कृष्ण पक्ष चतुर्दशी को तमिलनाडु से कोरियर के माध्यम से अच्छी पेकिंग में बिल्कुल सुरक्षित सभी वस्तुएं घर आ गई ! बंधुओ , आज सम्पूर्ण भारत में भारतीय संस्कृति के बारे में नई पीढ़ी को सब कुछ बताने की आवश्यकता है , इसी पेकिंग में हिंदी में लिखा एक संदेश भी गुरुवर जी ने भेजा है जिसमे बताया है की आपको रुद्राक्ष को काले धागे में गले में पहनने से शिव जी की कृपा , शारीरिक और मानसिक सेहत , ध्यान में मदद मिलती है , हाथ में काला धागा चालीस दिन कम से कम पहनना है महिला को बाई ओर पुरुष को दाई ओर बांधना है , इससे डर दूर होता है और यह महत्वाकांक्षा पूर्ण करता है , अभय सूत्र को गाठ खोलकर या जलाकर खोलना चाहिए काटना नही चाहिए और बाद में इसे जमीन में गाड़ देना चाहिए ! ईशा विभूति लगाने से आध्यात्मिक ग्रहण शीलता बढ़ती है ! ईशा फाउंडेशन तमिलनाडु को खरगोन मध्यप्रदेश से प्रभुकुंज गुप्ता परिवार का बहुत बहुत साधुवाद , ईशा फाउंडेशन के पूज्य जग्गी जी भारतीय संस्कृति के प्रचार और प्रसार के लिए कृत संकल्पित है हम सभी परिवारजन ईशा फाउंडेशन के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते है , जय शिव ! संतोष न्यूज खरगोन से संतोष गुप्ता की रिपोर्ट ! मोबाइल – 98262- 29657

Leave a Comment