Download Our App

आर्ट डायरेक्टर नितिन देसाई की आत्महत्या

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

[the_ad id='14901']

खरगोन -मित्रो , आज कुछ समय पूर्व मुझे नितिन देसाई आर्ट डायरेक्टर के सोसाइट के बारे में मेरे बेटे हर्षल ने बताया , मैं पिछले दिनों बेहद व्यस्त था , भागवत कथा की समाप्ति , रामायण पाठ की समाप्ति , मेरी पोती का जन्मदिन , देर रात का जागरण ….
इन सभी की व्यस्तता में टी वी और अखबार से दूरी अधिक हो गई …
आप भी पढ़कर शायद आश्चर्य करेंगे की क्या इतनी बड़ी खबर से कोई अछूता रह सकता है , किंतु बंधुओ मैं जो लिख रहा हू वह सत्य है …
क्युकी मैं झूठ नहीं बोलता
बंधुओ , आप विश्वास नहीं करेंगे जब मेरे बेटे ने आज तक की सुधीर चौधरी की मुझे रिपोर्ट दिखाई तो मैं कुछ समय के लिए इतना शाकड हो गया और इतना दुखी हुआ की केवल कर्ज के कारण देश ने इतना बड़ा आर्टिस्ट खो दिया ….
मोदीजी !
फिर कह रहा हू आपको कम्पनी एक्ट में सुधार कीजिए ….
आप एक तरफ तो देश को दिखाते हो हम चांद पर पहुंचने वाले है और दूसरी तरफ देश के महाराष्ट्र राज्य के मुंबई शहर का एक 57 वर्षीय जिसे आप पुरुस्कृत कर चुके हो आपकी तस्वीर मेने देखी नितिन देसाई के साथ , मोदी जी आप मेरा फेसबुक एकाउंट , मेरा इस्ताग्राम अकाउंट , मेरा ट्विटर अकाउंट चेक करवाइए मेने आपको , मध्यप्रदेश सरकार को कम्पनी एक्ट और कम्पनी की तानाशाही के बारे में खूब लिखा है !
किंतु दुख इस बात का है मोदी जी की मेरी तीन कम्पनी के विरुद्ध सी एम हेल्प लाइन में जो शिकायत दर्ज है उसका निराकरण मुख्यमंत्री शिवराज जी अभी तक नही कर पाए है शायद कम्पनी एक्ट से परेशान जब कोई हमारे खरगोन में आत्महत्या करेगा तब प्रशासन और सरकार चेतेगी !
मोदी जी , तीन कम्पनी की शिकायत आपके पी एम ओ में ही दर्ज हुई थी आपने उस शिकायत को सी एम हेल्प लाइन मध्यप्रदेश को भेजा है , तो पहले तो आप अरबों की जमीनों के घोटाले , गरीब , किसान , मजदूर और छोटे व्यापारी की तीन कम्पनी प्रकाश स्मृति , तंजीम ए जरखेज और प्रोफेसर पी सी फाउंडेशन पर कार्यवाही करे , सबसे दुख की बात इन तीनों कम्पनी में भारतीय जनता पार्टी के नेता रणजीत सिंह डंडीर की मुख्य भूमिका है जिसने नेता बनकर आज अरबों की जमीनों की कम्पनी का अध्यक्ष पद सम्हाले रखा है और एक तीनो कम्पनी का मास्टर माइंड खरगोन की हायर सेकेंड्री स्कूल का गणित का यू डी टी है जिसे राज्यपाल ने अनुकम्पा में सीधे यू डी टी की पोस्ट दी और 27 वर्षो से आज तक उसका कोई ट्रांसफर भी नही कर पाया !
मोदी जी
भारत के आर्ट डायरेक्टर नितिन देसाई का आत्महत्या का प्रकरण सिद्ध करता है की कम्पनी एक्ट को भारत सरकार ने कितनी छूट दे रखी है , जब देश के महानगर का इतना अच्छा व्यक्ति कम्पनी और चार व्यापारियों के दबाव को झेल नहीं पाया जिसे 180 करोड़ का लोन दे दिया गया उसे सात सालों में 240 करोड़ कर दिया गया , उसके स्टूडियो में फिल्मी दुनिया के कौन लोग थे जो उसे व्यापार ही नही करने दे रहे थे , जब उसके स्टूडियो में उसी आर्ट डायरेक्टर के वे लोग जिससे नितिन जी की कुछ अनबन हो गई तो उन्होंने उसके स्टूडियो में फिल्म वालो को जाने ही नही दिया ….
मोदीजी !
मैं भी एक आर्टिस्ट हू , मेने भी 1987 में बैंक से 15 हजार का लोन लेकर स्टूडियो शुरू किया था , आज उसी बैंक आफ इंडिया के लोन से मैं करोड़पति बना और मेने मेरा 60 वर्ष का जीवन व्यतीत किया , मेरे दोनो बेटो की शादी की , एक मेरा भी ऋण प्रकरण कम्पनी एक्ट में भेज दिया था तो कम्पनी ने लाखो के ऋण को करोड़ो में कर दिया था मेने उसकी शिकायत पी एम ओ में की तो उसका कम्पनी पर काफी असर पड़ा और उन्होंने दबाव कम किया , मोदी जी चुकी मेने कर्ज का समय देखा है , कम्पनी एक्ट और निजी व्यापारी साहूकार जो समांतर बैंक चलाकर भारत के नागरिकों से बहुत महंगा ब्याज लेते है , भारत सरकार को लोकसभा चुनाव से पूर्व इस विषय पर मार्केटिंग कर गरीब लोगो को साहूकारों से बचाना होगा , कर्ज के कारण देश में आत्महत्याएं बहुत अधिक बढ़ रही है हमारे भोपाल में पूरे चार लोगो के परिवार ने आत्महत्या की , इसके पहले इंदौर में परिवार ने आत्महत्या की ये दोनो मामले चाइना एप के थे , नितिन देसाई के ऊपर कितना दबाव होगा मैं उसे महसूस कर रहा हू क्युकी मेरी भी कर्ज के कारण कम्पनी के दबाव , प्राइवेट लोन वालो के दबाव के कारण मन करता था क्या करू क्या करू ?
मोदी जी , एक बात और कहूंगा कृपया वास्तु शास्त्र को शिक्षा क्षेत्र में लागू करवाए क्युकी भारतीय ऋषि मुनियों की यह खोज है की किसी भी मकान , दुकान , धर्मशाला , होटल , स्कूल या जो भी कामकाजी स्थल का नेरुत्य कोन हल्का हो या नेरुत्य कोन में गड्ढा हो तो उसके राहु, केतु , मंगल और शनि ग्रह उस भूमी स्वामी पर हावी हो जाते है और क्रूर ग्रह ही उसे आत्महत्या के लिए विवश करते है , मोदीजी , प्लीज लोकसभा चुनाव से पूर्व चल रहे इस सत्र में वास्तु शास्त्र के महत्व को आत्महत्या विषय से जोड़कर , संपूर्ण भारत के नेरुत्य दोष के बारे में चेतना जाग्रत कर आप राष्ट्र की बहुत बड़ी सेवा कर आम भोले भाले अज्ञानी लोगो को आत्महत्या से बचा सकते है , मेने वास्तु का भी अनुभव लिया है मोदीजी , आपको जो भी लिख रहा हू प्रमाणिक है प्लीज मेरी बात की गंभीरता को समझिए !
मित्रो , यह बात सही है की नितिन देसाई को आत्महत्या नही करने चाहिए किंतु मेरा सोचना है नितिन जी की आत्महत्या में वे नही सरकार दोषी है इसका पाप महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और भारत के प्रधानमंत्री के खाते में जाएगा क्युकी दोनो की जिम्मेदारी है की वे कर्ज वाले लोगो के बारे में प्रतिदिन संज्ञान ले , वरना आत्महत्या का सिलसिला बढ़ेगा घटेगा नही !
यदि आप भारत के सबसे बड़े आर्ट डायरेक्टर नितिन देसाई की आत्महत्या से कोई सबक नहीं लेते है , मतलब इस बारे में कोई कार्यवाही के साथ अभी जो लोग कर्ज में है उनके बारे में आप नही विचार मंथन करते है तो नितिन देसाई की आत्मा तुम्हे माफ नही करेगी !
यह सच है फिल्मी दुनिया के अमिताभ बच्चन पर भी कर्ज था किंतु उनका कर्ज राष्ट्रीय कृत बैंक से था और नितिन देसाई का कर्ज कम्पनी से था !
मोदीजी , एक बार पुनः याद दिला रहा हू , खरगोन मध्यप्रदेश की तीन कम्पनी प्रकाश स्मृति , तंजीम ए जरखेज और प्रोफेसर पी सी फाउंडेशन कम्पनी पर सख्ती से कार्यवाही विधानसभा चुनाव से पूर्व करवाए , खरगोन के दो व्यक्ति की शिकायत पर इन तीनों कम्पनी के विरुद्ध भोपाल की ई ओ डब्ल्यू ने केस दर्ज तो कर लिया है किंतु एक कांग्रेसी पत्रकार मुझसे कह रहा था , संतोष भाई , एक करोड़ रुपया ये कम्पनी वाले ई ओ डब्ल्यू को दे आयेंगे और सात आठ साल तक केस चला करेगा !
जो भी हो आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदीजी भारत सरकार ….नितिन देसाई आर्ट देसाई की कर्ज के कारण मौत का मामला बेहद गंभीर है और भारतीय जनता पार्टी के केंद्र के सभी प्रमुख नेता विशेष कर सीतारमन वित्त मंत्री , भारतीय रिजर्व बैंक के शशिकांत जी दास और कारपोरेट मंत्रालय नई दिल्ली के लिए एक गंभीर चिंतन का विषय बनना चाहिए !
संतोष न्यूज खरगोन से संतोष गुप्ता की रिपोर्ट ! 98262- 29657

Leave a Comment